Mahima Shani Dev Ki: शनिदेव ने महादेव से मिलने से किया था इनकार, दूत नंदी को बंदी बनाने पर शुक्राचार्य से छिड़ा युद्ध

  • Reading time:1 mins read

द्वारा ABP News

Mahima Shani Dev Ki: शनिदेव ने माता छाया और काकोल की मैया को खोने के बाद दंडनायक स्वरूप में आकर आक्रामक रूप दिखाया. उन्होंने माता की मौत के पीछे देवताओं की साजिश मानते हुए उन्हें दंड देने के लिए युद्ध में परास्त कर देवलोक जीत लिया. खुद देवराज सूर्यदेव और इंद्र, यम को बंदी बनाकर काकलोक के कारागार में डाल दिया. इसके बाद वह सूर्यलोक में देवी संध्या के छल में फंस गए और संध्या ने उन्हें पति सूर्य से मिले तप के जरिए जलाने का प्रयास किया, मगर तभी छाया ने अपनी चादर तान कर शनि के प्राण बचा लिए. 

वहीं दंडनायक शनि के आक्रामक व्यवहार से डरे सहमे देवताओं ने महादेव से गुहार लगाई. खुद भगवान…

और अघिक पढ़ें

Leave a Reply